Operating System Kya Hai Aur Ye Kaise Kam Karta Hai. 2022

0
183

Operating System Kya Hai Aur Ye Kaise Kam Karta Hai.


Operating System Kya Hai Aur Ye Kaise Kam Karta Hai.
नमस्कार दोस्तों आपका हमारे ब्लॉग पर तहे दिल से स्वागत है आज की इस पोस्ट की सहायता से हम आपको ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में जानकारी देने वाले हैं अगर आप भी ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में जानना चाहते हैं। और यह जानना चाहते हैं कि यह किस प्रकार से काम करता है तो हमारी इस पोस्ट की सहायता से आप पूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं जाहिर सी बात है अगर आप गूगल पर सर्च करते हुए हमारे इस ब्लॉग तक पहुंचे हैं। तो आपको जरूर ऐसी ही किसी पोस्ट की तलाश होगी जहां पर आपको ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में पूरी जानकारी मिल सके।

हम यहां पर आपको ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़ी हुई सारी जानकारी को बताएंगे बस इसके लिए आपको हमारी इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक ध्यान पूर्वक फॉलो करना होगा। अगर आप हमारी इस पोस्ट को लास्ट तक फॉलो कर लेते हैं तो हमें इस बात का दावा करते हैं आप कुछ ही समय के अंदर ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में जान जाएंगे और यह भी जान जाएंगे कि ऑपरेटिंग सिस्टम कैसे काम करता है।

Operating System Kya Hai.

ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग ज्यादातर लोगों द्वारा ओ एस के नाम से जाना जाता है जो कि इसका शॉर्ट फॉर्म है यानी कि इसका शार्ट नाम है। हमने आपको ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में समझाने के लिए कुछ पॉइंट का सहारा लिया है जिसकी सहायता से आप ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में आसानी से समझ सकते हैं जो कि इस प्रकार है।

1) हम आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा सॉफ्टवेयर होता है जो कि सभी जगह कंप्यूटर के मध्य के तौर पर काम करता है। और इस सिस्टम को सॉफ्टवेयर ही कहा जाता है इसी के माध्यम से कंप्यूटर हमारे दिए गए निर्देशों को समझ पाता है।

2) ऑपरेटिंग सिस्टम की बात की जाए तो ऑपरेटिंग सिस्टम में बहुत सारे निर्देश पहले से ही बनाकर अपलोड होते हैं जो कि कंप्यूटर के स्टोरेज में सेव रहते हैं जिसकी सहायता से कंप्यूटर को कोई भी निर्देश देने पर वह अच्छे से ऑपरेट को परफॉर्म करता है।

3) हम आपकी जानकारी के लिए बता ना चाहेंगे ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर में पहले से ही लोड रहता है उसके बाद ही सारे प्रोग्राम से लोड होते हैं जिसकी सहायता से ऐसे प्रोग्रामों का प्रोग्रामस भी कहा जाता है।

4) ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही कंप्यूटर के सभी तरह के प्रोग्रामस operations कंट्रोल कर के रखा जाता है कंप्यूटर के विभिन्न प्रोग्राम और एप्लीकेशन को चलाता है। और यह कंप्यूटर के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों को ही जोड़ कर रखता है।

5) यह ऑपरेटिंग सिस्टम सीपीयू के सभी संचालन ओं को देखता है और कंप्यूटर के इनपुट आउटपुट के साथ स्टोरेज को कंट्रोल करके रखता है और तरह की इसमें सेवा उपलब्ध रहती हैं। बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कंप्यूटर सिर्फ एक बेकार मशीन ही होता है जिसका प्रयोग नहीं किया जा सकता।

Functions of Operating System in Hindi.

Device Management

ऑपरेटिंग सिस्टम एक ऐसा सिस्टम होता है जो सभी डिवाइस की जानकारी को सेव करके रखता है और यह किस डिवाइस को कौन सा प्रोग्राम दिया जाना चाहिए। और कब और कितने समय पर देना चाहिए इसे ध्यान में रखता है और इसे कंट्रोलर भी कहा जाता है।

Processor Management

जैसा कि आप जानते ही हैं कि सीपीयू एक समय में एक ही प्रोग्राम को प्रोसेस कर सकता है लेकिन हम मोबाइल और कंप्यूटर में एक ही समय में सारे प्रोग्राम को आसानी से चला सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह उन सबको मल्टीप्रोग्रामिंग करने के द्वारा करती है तथा या प्रोग्राम को प्रोसेस प्रोवाइड करती है और जब किसी प्रोग्राम की सीपीयू की जरूरत खत्म हो जाती है तब यह उसको deallocate कर देता है।

Memory Management

यह ऑपरेटिंग सिस्टम प्राइमरी मेमोरी की सभी जानकारी को मैनेज करके रखता है जब भी किसी प्रोग्राम को मेमोरी की आवश्यकता होती है यह उस मेमोरी को allocate कर देता है और इसके पास यह जानकारी भी रहती है कि किस प्रोग्राम में कितना मेमोरी प्रयोग किया है।

File Management

अब इसके फाइल मैनेजमेंट की बात की जाए तो कंप्यूटर या लैपटॉप में मौजूद फोल्डर को आसानी से यह खोज कर रखता है और इसकी वजह से efficiently आसानी से प्रयोग किया जा सकता है। कौन सा डेट आप कौन सी जगह पर इसको करते ही रखना है तथा फाइल को खोजना इन सभी के लिए सहायता करता है।

Hardware Management

इसके हार्डवेयर मैनेजमेंट की बात की जाए तो कंप्यूटर का हर हार्डवेयर अपना अलग कार्य करता है लेकिन ऑपरेटिंग सिस्टम respective drivers नामक सॉफ्टवेयर से डिवाइस communication को कंट्रोल करके रखता है। हर हार्डवेयर के लिए एक अलग डिवाइस ड्राइवर होता है यह ड्राइवर विभिन्न सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच के संचार को सफलतापूर्वक काम करवाता है।

Security

इसकी सिक्योरिटी की बात की जाए तो ऑपरेटिंग सिस्टम है इसका पूरा पूरा ध्यान रखता है कि सिर्फ उस सिस्टम का
authorized यूजर की कंप्यूटर और उसके डाटा को देख सकता है और यह कंप्यूटर को unthorized एक्सेस के द्वारा प्रोटेक्ट करता है।

Reliability

ओएस लाइटवेट और reliable ऑपरेटिंग होता है कंप्यूटर को वायरस और खराबी से बचाने के लिए यह उसमें आ रहे एरर्स को हमेशा सो करता रहता है। जिसकी वजह से उन एरर्स को पहले से हटाया जा सके और कंप्यूटर की सिक्योरिटी को बचाए रखा जा सके।

System Performance

यह सिस्टम हमारे कंप्यूटर के सिस्टम को हर रोज एक्टिवेट करता रहता है और एक्टिवेट पर नजर रखता है यह कंप्यूटर सीपीयू का स्टेटस भी बताता रहता है जिससे आप यह जान सकते हैं कि सीपीयू कितना प्रयोग किया जा रहा है।

अंतिम शब्द

दोस्तो आज की इस पोस्ट की सहायता से हमने आप लोगों को सिखाया है कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है और यह किस प्रकार से काम करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है इसके लिए भी हमने पॉइंट का प्रयोग किया है और यह कैसे काम करता है इसके लिए भी हमने पॉइंट का प्रयोग किया है। ताकि आप हमारी इस पोस्ट को सही से समझ सके अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आती है तो आप इसे शेयर करना ना भूले और आप हमारी इस वेबसाइट को विजिट कर सकते हैं। ताकि आपको हमारी हर रोज एक नई जानकारी मिल सके।

Read also 👉

🔍सीआईएफ नंबर क्या होता है ?

🔍Conference Call Kaise Pata Kare In Hindi

🔍Telegram पर Subscriber कैसे बढ़ाए ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here